Wednesday, October 5, 2022
Homeक्रिकेटक्रिकेट के 5 ऐसे खिलाड़ी जिन्होंने शारीरिक कमजोरी के बावजूद क्रिकेट में...

क्रिकेट के 5 ऐसे खिलाड़ी जिन्होंने शारीरिक कमजोरी के बावजूद क्रिकेट में किया अपना बड़ा नाम

1. मैथ्यू वेड

मैथ्यू वेड ने बहुत ही मुश्किल हालातो में बेहतरीन पारी खेली है। मैथ्यू वेड ने पूरे करियर ही मुश्किल हालातों के सामने मजबूती से डटकर सामना करना और उन पर जीत पाने को लेकर रहा है। तस्मानिया के होबार्ट में जन्मे मैथ्यू वेड को कलर ब्लाइंड हैं। वह सही से रंगों की पहचान नहीं कर पाते है। इसके बावजूद भी पिछले एक दशक से वेड आंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में जमे हुए हैं। मैथ्यू वेड ने ऑस्ट्रेलिया की ओर से कुल 36 टेस्ट मैच, 97 वनडे मैच और 54 T20 मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने कुल 4200 से ज्यादा रन बनाए हैं।

2. ख्रिस गेल

बहुत कम लोगों को यह पता होगा कि 2005 में वेस्टइंडीज के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान दिल में छेद के इलाज के लिए गेल का ऑपरेशन हुआ था। सर्जरी के बाद गेल एडिलेड में तीसरे और अंतिम टेस्ट में नहीं खेल पाए थे। ख्रिस गेल ने अपनी आत्मकथा ‘सिक्स मशीन’ मे कहा है की, किसी को नहीं पता की ऑस्ट्रेलिया में उपचार के दौरान मुझे दिल में छेद के बारे में पता चला था। क्रिस गेल ने अपने करियर में अब तक कुल 290 T20 मैच खेले हैं। ख्रिस गेल के नाम अब कुल 431 T20 मैचों में 14,038 रन हो बनाए हैं। वही T20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्कों की बात की जाए तो इस मामले में भी ख्रिस गेल 743 छक्कों के साथ सबसे आगे हैं।

3. वाशिंगटन सुंदर

आयपीएल सीजन 10 में पुणे राइजिंग सुपरजाएंट्स से खेल चुके वाशिंगटन सुंदर एक बड़ी शारीरिक समस्या से पीड़ित हैं। वाशिंगटन सुंदर को सिर्फ एक ही कान से सुनाई देता है। जब वे चार साल के थे, तब उन्हे यह बीमारी का पता चला था। वर्ष 2017 मे श्रीलंका के खिलाफ मोहाली में हुए सीरीज के दूसरे वनडे मैच मे भारत की ओर से वाशिंगटन सुंदर ने डेब्यू किया था। उन्होंने 18 साल 69 दिन की उम्र में ये मैच खेला था। सुंदर को भी इसके चलते काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। लेकिन उन्होंने इस कमजोरी को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया। वाशिंगटन सुंदर का जन्म 5 अक्टूबर 1999 को तमिलनाडु में हुआ था। वह एक लेफ्ट हैंड बैट्समैन और राइट हैंड ऑफ स्पिनर है।

4. मार्टिन गप्टिल

मार्टिन गप्टिल न्यूजिलँड की ओर से वनडे सिरीज में शतक लगाने वाले न्यूजीलैंड के पहले खिलाड़ी है।
बता दे मार्टिन गुप्टिल 13 वर्ष की उम्र में पैर की तीन उंगलियां गंवाने के बावूजद क्रिकेट में रनों के एवरेस्ट पर पहुंच चुके हैं। 30 सितंबर 1986 को जन्मे मार्टिन महज 13 साल के थे जब सामान उठाने की लिफ्ट के नीचे उनका पैर आ गया था, जिसके चलते उनके बाएं पैर की तीन उंगुलियां बुरी तरह से चोटिल हो गई थीं। मार्टिन गप्टिल को ‘मार्टी टू टोज’ के निक नेम से भी जाना जाता है। इतने बड़े हादसे से गुजरने के बाद भी मार्टिन गप्टिल परिस्थितियों से जूझते हुए बेहतरीन क्रिकेटर की लिस्ट मे शामिल है। मार्टिन गप्टिल ने अब तक कुल 109 T20 आंतरराष्ट्रीय मैच खेले है। इस दौरान उन्होने 2 शतक और 18 अर्धशतकों की मदद से 3147 रन बनाए हैं।

5. मुशरफे मुर्तजा

वर्ष 2001 में बांग्लादेश के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले मुर्तजा को 2010 में वनडे टीम का कप्तान बनाया गया था। मुर्तजा की कप्तानी में ही बांग्लादेश टीम वर्ष 2015 के विश्व कप के नॉक-आउट में पहुंची थी। इसके साथ ही मुर्तजा ने अपनी कप्तानी में बांग्लादेश को वर्ष 2017 चैंपियन ट्रॉफी के सेमीफाइनल में भी पहुंचाया था। मुर्तजा ने कुल 88 वनडे मैचों में बांग्लादेश की कप्तानी की है। जिसमें 50 मैचों में टीम को जीत और 36 मैचों में हार मिली है।
बंगलादेश प्रीमियर लीग T20 टूर्नामेंट के दौरान मुर्तजा घायल हो गये थे। बंगलादेश के तेज गेंदबाज मुशरफे मुर्तजा टखने की चोट से क्रिकेट से दूर है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular