Friday, October 7, 2022
Homeक्रिकेटमहेंद्र सिंह धोनी को सुप्रीम कोर्ट से नोटिस, क्या महेंद्र सिंह धोनी...

महेंद्र सिंह धोनी को सुप्रीम कोर्ट से नोटिस, क्या महेंद्र सिंह धोनी को होगी जेल?

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी किया है। एम एस धोनी को यह नोटिस सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली ग्रुप के साथ पुराने विवाद को लेकर जारी किया है। दरअसल आम्रपाली ग्रुप पर फ्लैट खरीददारो को समय पर फ्लैट की डिलीवरी नही करने, और धोखाधड़ी करने के साथ कई केस चल रहे है।

आपको बता दे की महेंद्र सिंह धोनी लंबे समय तक आम्रपाली ग्रुप के ब्रांड एंबेसडर रह चुके है। एम एस धोनी पर आम्रपाली ग्रुप का 150 करोड रुपये बकाया है। इसके साथ ही एम एस धोनी ने आम्रपाली ग्रुप के इस प्रोजेक्ट में एक पेंटहाउस भी बुक करावाया था। एम एस धोनी और आम्रपाली ग्रुप के बीच में विवाद की लढाई पहले दिल्ली हाई कोर्ट में चल रही थी।

बता दे इस मामले को लेकर हाई कोर्ट में रिटायर्ड जस्टिस वीणा बीरबल की अगुवाई में एक कमेटी का गठन किया गया था। कमेटी का उद्देश्य आम्रपाली ग्रुप और ग्राहकों के बीच मध्यस्था करवाना था। इसके बाद यह मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया जिस पर सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने एम एस धोनी को नोटिस जारी किया है। मामला जब सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा तो फ्लैट खरीदारों ने इस कमेटी गठन का विरोध किया।

फ्लैट खरीददारो ने सुप्रीम कोर्ट से अपील कर कहा की एम एस धोनी एंबेसडर के तौर पर अपने 150 करोड रुपये आम्रपाली ग्रुप से मांग रहे है। फ्लैट खरीददारो का कहना है की अगर आम्रपाली ग्रुप, एम एस धोनी को 150 करोड रुपये चुकाता है तो बचे हुए फ्लैट पूरे नही हो पाएंगे। इसी के चलते सुप्रीम कोर्ट ने अपील स्वीकार करते हुए एम एस धोनी को नोटीस जरी किया है।

सुप्रीम कोर्ट ने महेंद्र सिंह धोनी और आम्रपाली ग्रुप को नोटिस जारी कर दोनो को अपना पक्ष रखने रखने को कहा है। एम एस धोनी करीब 6 से 7 वर्षों तक आम्रपाली ग्रुप के ‘ब्रैंड एम्बेसडर’ रहे चुके है। इस दौरान एम एस धोनी ने ग्रुप के लिए कई एड शूट भी किए थे। बता दे यह वही आम्रपाली ग्रुप है जिसने वर्ष 2011 विश्व कप विजेता टीम के हर खिलाडी को नोएडा में एक एक फ्लैट गिफ्ट किया था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular