Thursday, September 29, 2022
Homeखेल कूदबीच इवेंट में चोट उठी, दर्द से कराहे.. फिर भी हार नहीं...

बीच इवेंट में चोट उठी, दर्द से कराहे.. फिर भी हार नहीं मानी ,19 वर्षीय जेरेमी लालरिनुंगा ने जीता भारत के लिए दूसरा गोल्ड मेडल..

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में जेरेमी लालरिनुंगा ने इतिहास रच दिया है। वह बर्मिंघम में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले पुरुष एथलीट बन गए है। वेटलिफ्टिंग के 67 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में स्नैच राउंड में भारत के जेरेमी लालरिनुंगा पहले स्थान पर रहे है। जेरेमी लालरिनुंगा ने पहले प्रयास में 136 किग्रा और दूसरे प्रयास में 140 किग्रा भार उठाया।

वही तीसरे प्रयास में वह 143 किग्रा वजन उठाने में वे असफल रहे थे। स्नैच राउंड में जेरेमी लालरिनुंगा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 140 किलो रहा है। इसके बाद क्लीन एंड जर्क में जेरेमी लालरिनुंगा ने शानदार शुरुआत की। उन्होंने पहले प्रयास में 154 किलो भार उठाया। वह अपने पहले प्रयास में चोटिल हो गए थे। मगर इसके बावाजुद भी उन्होंने मैदान नही छोडा।

क्लीन एंड जर्क के अपने दूसरे प्रयास में उन्होंने 160 किलो भार उठाया। वह क्लीन एंड जर्क के तीसरे प्रयास में 165 किग्रा भार उठाना चाह रहे थे। मगर इसके बाद क्लीन एंड जर्क में जेरेमी लालरिनुंगा ने शानदार शुरुआत की। अपने दूसरे प्रयास में उन्होंने 160 किलो भार उठाया। जेरेमी लालरिनुंगा क्लीन एंड जर्क के तीसरे प्रयास में 165 किग्रा भार उठाना चाह रहे थे। मगर वे नाकाम रहे।

इस दौरान वह एक बार फिर से वे चोटिल हो गए थे। उनका कुल स्कोर 300 रहा है। इसके साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने पांचवा मेडल जीत लिया है। अब तक भारत को पांच मेडल मिले है। और सभी के सभी मेडल वेटलिफ्टिंग में ही जीते है। कुल पांच मेडल में 2 गोल्ड मेडल, 2 सिल्वर मेडल और 1 ब्रॉन्ज मेडल प्राप्त हुआ है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी जेरेमी लालरिनुंगा को बधाई दी है। नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीटर से लिखा, हमारी युवा शक्ति इतिहास रच रही है। जेरेमी लालरिनुंगा को बधाई, जिन्होंने अपने पहले ही राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता है। और साथ ही एक अभूतपूर्व राष्ट्रमंडल खेल रिकॉर्ड भी बनाया है। छोटी सी उम्र में उन्होंने अपार गौरव और यश हासिल किया है। उन्हें उनके भविष्य के प्रयासो के लिए शुभकामनाए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular