Tuesday, October 4, 2022
Homeमनोरंजनकरोड़ो के बंगलों में रहने वाले बॉलीवुड के भगवान ने चॉल में...

करोड़ो के बंगलों में रहने वाले बॉलीवुड के भगवान ने चॉल में ली थी अपनी आखिरी सांस

जैसा कि हम सभी जानते हैं बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री को शुरुआती दिनों में खड़ा करने में कई दिग्गज अभिनेताओं ने योगदान दिया था। एक ऐसा ही नाम बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता भगवान दादा का भी है। उनके डांस मूव्स के तो लोग दीवाने थे। वे बॉलीवुड के सबसे पहले एक्शन स्टार बने। उनका जन्म 1 अगस्त 1913 को हुआ था। उनका पूरा नाम भगवान आभाजी पालव था। उन्होंने अपने शुरुआती जीवन में काफी संघर्ष किया।

भगवान दादा ने सबसे पहली बोलती फिल्म हिम्मत-ए-मर्दा में काम किया था। ये फिल्म 1934 को रिलीज हुई थी। इस फिल्म में उनके साथ अभिनेत्री ललिता पवार भी शामिल थी। बता दे भगवान दादा ने कई हिट फिल्मों में काम किया है। वे शेवरले कारों के बेहद शौकीन थे। वे रोजाना अपने शूटिंग पर नई नई कार से जाया करते थे। वे अपने स्टंट खुद परफॉर्म करते थे।

आपको बता दिया जाए भगवान दादा बेहद कमाल के डांसर थे। लोगों के साथ साथ बॉलीवुड की कई अभिनेता भी उनके डांस मूव्स के दीवाने थे। अमिताभ बच्चन, गोविंदा और मिथुन चक्रवर्ती भी उनके डांस स्टेप कॉपी किया करते थे। भगवान दादा एक एक्टर होने के साथ-साथ डायरेक्टर और कॉमेडियन के रूप में काम करते रहे हैं। उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में तकरीबन 65 साल काम किया।

भगवान दादा ने बहादुर किसान, वाना मोहिनी, अलबेला जैसी सुपरहिट फिल्मों को डायरेक्ट किया। उन्होंने हंसते रहना फिल्म को भी डायरेक्ट किया था और इस फिल्म के वजह से ही पूरी तरीके से कंगाल हो गए थे। इस फिल्म के एक्टर किशोर कुमार थे और किशोर कुमार ने काफी उस वक़्त काफी नखड़े दिखाए थे। इस वजह से फिल्म को बंद करनी पड़ी थी और एक्टर को अपना घर और बंगला बेचना पड़ा था। फिर वे मुंबई के चाल में रह रहे थे। 4 फरवरी 2002 को हार्ट अटैक से उनकी मृत्यु हो गई।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular