Wednesday, October 5, 2022
Homeअज़ब-गज़बदुनिया का एक ऐसा विचित्र प्रांत जहां की महिलाएं अपने जीवन में...

दुनिया का एक ऐसा विचित्र प्रांत जहां की महिलाएं अपने जीवन में सिर्फ एक बार नहाती हैं, जानिए क्या है वजह

अफ्रीका में उत्तर-पूर्व नामीबिया के कुनैन प्रांत में एक जनजाती ऐसी है जहा की महिलाओ का जीवन जानकर आप हैरान हो जाएंगे। नामीबिया में रहने वाले लगभग 50 हजार हिंबा जनजाती के लोग जिस तरह से अपनी परंपरा से जुडे हुए है। जो की आज के समय में किसी काल्पनिक कहानी जैसा ही लगता है। जबकी वर्तमान समय में भी ऐसे लोग भी दुनिया का हिस्सा है।

आपको बता दे की, नामीबिया की इस जनजाती की महिलाओ को अफ्रीका में सबसे खूबसूरत माना जाता है। मगर गौरतलब है की, इस जनजाति की महिलाए अपने जीवन में सिर्फ एक बार ही नहाती है। लग रहा है ना झूट! लेकिन ये बात सौ प्रतिशत सच है। यहा की महिलाए जीवन में सिर्फ एक बार ही नहाती है। वो भी सिर्फ तब जब उस महिला की शादी हो रही हो।

नामीबिया की इस अनोखी जनजाती का नाम ‘हिंबा’ जनजाती है। हिंबा जनजाती की महिलाओ की त्वचा का रंग लालसर होता है। हिंबा जनजाती की महिलाए नहाने की जगह कुछ खास जडी बूटि को पानी में उबालकर उसके धुंए से अपनी शरीर को ताजा रखती है। जिससे की उनके शरीर से दुर्गंध ना आए और वे ताजा महसुस कर सके। हिंबा जनजाती के लोग ये सब अपनी पारंपरिक मान्यताओ को कायम रखने के लिए करते है।

हिंबा जनजाती में लोगो के बालो का स्टाइल एकदम अलग है। बता दे हिंबा जनजाती के पुरूष सिर पर बालो की सिर्फ एक चोटी बनाकर रखते है। चोटी सिंग जैसी दिखाई देती है। वही शादीशुदा पुरूष अपने सिर पर पगडी पहने होते है। आश्चर्य कर देने वाली बात ये है की जिन पुरूषो की शादी हो जाती है वो शादी के बाद अपने सिर से कभी भी पगडी नही उतारते है।

हिंबा जनजाती के लोग रेगिस्तान की कठोर जलवायु में रहने से परिचित होते है। ये लोग खुद को बाहर की दुनिया से अपने आप को अलग रखते है। इस जनजाती का मुख्य अन्न दलिया है। दलिया मक्के या बाजरे से बना होता है। बाजरे को यहा ‘महांगू’ कहा जाता है। वही हिंबा जनजाती के लोग किसी खास अवसर पर मांस का भी सेवन करते है। यहा के लोग धूप से अपनी त्वचा को बचाने के लिए खास तरह के लोशन का इस्तेमाल करते है।

यह लोशन जानवर की चर्बी और हेमाटाइट की धूल से तैयार किया जाता है। इस खास तरह के लोशन का उपयोग करने से वो कीटाणुमुक्त भी रहते है। इस लोशन को चेहरे पर लगाने से त्वचा का रंग लाल हो जाता है। जिसके चलते यहा की महिलाओ को रेड वुमन भी कहा जाता है। इसके अलावा बता दे की हिंबा जनजाती की महिलाए पानी को छुती ही नही है। वही महिलाए कपडे के साथ साथ तक नही धोती है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular