Tuesday, October 4, 2022
Homeअज़ब-गज़बसिर्फ कोहिनूर हीरा ही नहीं बल्कि ये 4 कीमती चीजें भी चुराकर...

सिर्फ कोहिनूर हीरा ही नहीं बल्कि ये 4 कीमती चीजें भी चुराकर ले गए थे अंग्रेज

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद से ही सोशल मीडिया पर कोहिनूर हिरा एक फिर से सुर्खियो में है। सोशल मीडिया पर कोहिनूर हिरा करके ट्रेंड भी चल रहा है। ब्रिटिश साम्राज्य के सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की मृत्यु के बाद आपको बता दे किंग चार्ल्स को आधिकारिक तौर पर ब्रिटेन का नया राजा घोषित किया गया है।

जिसके बाद से सोशल मीडिया पर लोग भारत से ब्रिटेन ले गए कोहिनूर हीरा अपने देश भारत वापिस लाने की मांग कर रहे है। सोशल मीडिया पर लोगो ने ब्रिटेन से भारत को कोहिनूर हीरा वापिस लौटाने की मांग की है। लोगो का मानना है की भारत का कोहिनूर हिरा जो की महारानी के मुकुट में लगा हुआ है। वो कोहिनूर हिरा अब अपने देश भारत में वापिस लाना चाहिए।

इसके अलावा आपकी जानकारी के लिए बता दे की, अंग्रेज उस समय भारत से कोहिनूर हिरा ही नही बल्की बहुत सी किंमती चीजो को लेकर ब्रिटेन चले गए थे। आपको बता दे की महारानी की कुल संपत्ती में ‘ग्रेट स्टार ऑफ अफ्रीका’ का हिरा भी शामिल है। यह दुनिया का सबसे बडा हीरा है। और इस हिरे का वजन लगभग 530 कैरेट है।

जबकी इस हिरे की किंमत लगभग 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर है। अफ्रीका के इस बेशकीमती हिरे को वर्ष 1905 में खनन कर प्राप्त किया गया था। जिसे एडवर्ड सप्तम के सामने पेश किया गया था। रिपोर्ट्स की माने तो यह किंमती हिरा चोरी हो गया था या अंग्रेजो द्वारा लूटा गया था। अफ्रीका का यह बेशकिंमती हिरा वर्तमान समय में रानी के राजदंड में लगा हुआ नजर आता है।

इसके अलावा वर्ष 1799 में अंग्रेजो के खिलाफ युद्ध हारने के बाद टीपू सुल्तान की अंगूठी भी उनके शव से निकाल ली गयी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस किंमती अंगूठी को ब्रिटेन में एक नीलामी में एक अज्ञात बोली लगाने वाले को लगभग 1,45,000 ब्रिटिश पाउंड में बेच दिया गया था। बता दे यह युद्ध मैसूर राज्य और ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच हुआ था। गौरतलब है की अंगूठी पर हिंदू देवता राम का नाम भी है।

रिपोर्ट्स की माने तो लॉर्ड एल्गिन ने कथित तौर पर ग्रीस में पार्थेनन की सडती दीवारो से पत्थरो को हटा दिया और उन पत्थरो को वर्ष 1803 में लंडन लेकर जाया गया। रिपोर्ट के अनुसार ग्रीस वर्ष 1925 से इसे वापिस मांग रहा है। मगर मार्बल्स फिलहाल ब्रिटिश संग्रहालय में है। इन किंमती पत्थरो को एल्गिन मार्बल्स कहा जाता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 1800 के दशक में फ्रांस के खिलाफ लडाई जीतने के बाद रोसेटा स्टोन को अंग्रेजो ने चोरी कर लिया था। मिस्त्र के लोग रोसेटा स्टोन को को अपने देश में वापिस लाना चाहते है। रोसेटा स्टोन इस समय ब्रिटिश संग्रहालय में मौजुद है। रोसेटा स्टोन 196 ईसा पूर्व का है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular